[Top 4] yoga for leg pain in Hindi

 कामों में इधर-उधर भागना और व्यस्त कार्य शेड्यूल अंततः हमारे पैरों पर भारी पड़ सकता है।

पैरों को आराम देना और उनकी मालिश करना आपके पैरों को आराम देने का त्वरित साधन है।

हालांकि, लंबे समय में, कई योग आसन हैं जो आपके पैर की मांसपेशियों को मजबूत करने और उन्हें हल्का महसूस कराने में मदद कर सकते हैं।

पैरों के दर्द से राहत पाने के लिए इन पुनर्स्थापनात्मक आसनों का पालन करें।

yoga for leg pain in Hindi

विपरीत करणी या लेग-अप-द-वॉल पोज [Viparita karani or legs-up-the-wall pose]

  • दीवार की ओर मुंह करके अपने सामने पैर रखकर बैठ जाएं।
  • अपनी पीठ पर लेटो। गहरी साँस लेना। अपने पैरों के तलवों को ऊपर की ओर रखते हुए अपने पैरों को दीवार से सटाएं।
  • अपनी पीठ को 90 डिग्री का कोण बनाते हुए फर्श पर टिकाएं।
  • समर्थन के लिए अपने दोनों हाथों को इसके नीचे रखकर अपने कूल्हों को ऊपर उठाएं।
  • यह स्थिति पकड़ों। धीरे-धीरे नीचे आएं और आराम करें।


पश्चिमोत्तानासन या बैठे हुए आगे की ओर झुकें [Paschimottanasana or seated forward bend]

  • अपनी रीढ़ की हड्डी के साथ बैठो और पैरों को फैलाओ।
  • सांस भरते हुए अपने दोनों हाथों को सीधे सिर के ऊपर उठाएं। सांस छोड़ें और हाथों को आगे की ओर झुकाएं। अपने सिर को अपनी गोद में टिकाएं और अपने हाथों को फर्श पर रखें।
  • यह स्थिति पकड़ों।
  • श्वास लें, जैसे ही आप अपनी बाहों को अपने सिर के ऊपर फैलाते हैं। सांस छोड़ें और हाथों को नीचे लाएं।
  • इसे 10 बार दोहराएं।


जानू सिरसासन या सीटेड फॉरवर्ड फोल्ड वेरिएशन [Janu sirsasana or seated forward fold variation]

  • अपने पैरों को फैलाकर बैठें।
  • अपने दाहिने घुटने को मोड़ें और दाहिने पैर को बाईं जांघ के खिलाफ रखें।
  • सांस भरते हुए अपने दोनों हाथों को सिर के दोनों ओर उठाएं।
  • अपने शरीर को दाहिने पैर के अंगूठे की ओर मोड़ें और अपनी बाहों को पैर के अंगूठे तक नीचे करें।
  • अपने हाथों को अपने टखने पर रखें या अपना पैर पकड़ें।

  • श्वास लेते हुए वापस प्रारंभिक स्थिति में आ जाएं।


Setu bandhanasana or supported bridge pose

  • अपनी पीठ के बल लेट जाएं और भुजाओं को बाजू में रखें।
  • टखनों और घुटनों को एक सीध में रखते हुए घुटनों को मोड़ें।
  • श्वास लें, और अपनी पीठ को फर्श से ऊपर उठाएं। अपने कंधों में रोल करें, और अपनी ठुड्डी को अपनी छाती को छूने दें। अपने बट की मांसपेशियों को संलग्न करें।
  • अपनी उंगलियों को अपनी पीठ के नीचे इंटरलॉक करें और उन्हें पीठ को सहारा दें।
  • पद धारण करें। सांस छोड़ें और मुद्रा को छोड़ दें।

Post a Comment

0 Comments