home remedies for diarrhea in Hindi

 अतिसार एक सामान्य बीमारी है जो जल्दी ही सही उपाय न करने पर तेजी से बढ़ सकती है। जबकि कई निर्धारित दवाएं और उपचार स्थिति को सुधारने में मदद कर सकते हैं, कुछ घरेलू उपचार भी प्रभावी हो सकते हैं।


अतिसार अक्सर बुनियादी स्वच्छता की कमी या दूषित भोजन और पानी के सेवन के कारण होता है। डायरिया के सबसे आम कारणों में से एक नोरोवायरस संदूषण विकासशील देशों में 200,000 से अधिक मौतों के लिए जिम्मेदार है ।


जबकि दस्त के अधिकांश मामले शुरू में हल्के हो सकते हैं, वे अक्सर अन्य लक्षणों के साथ निर्जलीकरण, इलेक्ट्रोलाइट असंतुलन, ऐंठन, सूजन और पेट दर्द का कारण बनते हैं। इसलिए, मौखिक रीहाइड्रेटिंग समाधानों के साथ खुद को हाइड्रेट रखना महत्वपूर्ण है और अपने शरीर को ठीक होने में मदद करने के लिए पर्याप्त आराम करें।


यदि आपके लक्षण हल्के लगते हैं, तो आप चीजों को नियंत्रण में रखने के लिए यहां सूचीबद्ध कुछ घरेलू उपचारों का उपयोग कर सकते हैं। हालांकि, यदि लक्षण एक सप्ताह से अधिक समय तक रहते हैं, तो आपको सही निदान और दवाओं के लिए डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए। यह जानने के लिए पढ़ें कि डायरिया को शुरूआती चरणों में घर पर कैसे नियंत्रित किया जाए।


pet kharab ke gharelu nuskhe

1. नींबू पानी

नींबू का रस, चीनी, नमक और पानी का मिश्रण एक लोकप्रिय उपाय है जिसका उपयोग कई लोग दस्त के लक्षणों के इलाज के लिए करते हैं, जैसे निर्जलीकरण (2)।


आपको चाहिये होगा


  • ½ नींबू
  • 1 गिलास पानी
  • नमक की एक चुटकी
  • 2 चम्मच चीनी


एक गिलास पानी में आधा नींबू का रस निचोड़ लें।

इसमें एक चुटकी नमक और दो चम्मच चीनी मिलाएं।

अच्छी तरह मिलाकर पी लें।

आपको यह कितनी बार करना चाहिए


इस मिश्रण को हर कुछ मिनट में घूंट-घूंट कर पिएं।


2. सेब साइडर सिरका

सेब के सिरके में रोगाणुरोधी और सूजन रोधी गुण होते हैं (3), (4)। यह दस्त के लिए जिम्मेदार रोगाणुओं से लड़ने में मदद कर सकता है और सूजन वाली आंतों को शांत कर सकता है।


आपको चाहिये होगा


  • 2 चम्मच एप्पल साइडर विनेगर
  • 1 गिलास पानी
  • शहद (वैकल्पिक)


एक गिलास पानी में दो चम्मच एप्पल साइडर विनेगर मिलाएं।

अच्छी तरह मिलाएं और इसमें थोड़ा सा शहद मिलाएं।

मिश्रण पिएं।

आपको यह कितनी बार करना चाहिए


आप इस मिश्रण को दिन में 2-3 बार तब तक पी सकते हैं जब तक लक्षण कम न हो जाएं।


3. बादाम दूध

वयस्क और शिशु जो लैक्टोज-असहिष्णु हैं, वे डेयरी उत्पादों का सेवन करने पर दस्त विकसित करते हैं (5)। बादाम का दूध एक स्वस्थ और सुरक्षित विकल्प है (6)।


आपको चाहिये होगा


बादाम दूध (आवश्यकतानुसार)


तुम्हे जो करना है


अपने अनाज, स्मूदी और अन्य व्यंजनों में गाय के दूध को बादाम के दूध से बदलें।


आपको यह कितनी बार करना चाहिए


यदि आप लैक्टोज-असहिष्णु हैं तो आप इसे दैनिक आदत बना सकते हैं।


4. नारियल पानी

डायरिया के हल्के लक्षणों वाले लोगों के लिए नारियल पानी का उपयोग पुनर्जलीकरण समाधान के रूप में किया जा सकता है। हालांकि, इसका उपयोग जल्दी फिर से खिलाने (7) के साथ किया जाना चाहिए।


आपको चाहिये होगा


  • 1 गिलास ताजा युवा नारियल पानी


तुम्हे जो करना है


  • रोजाना एक गिलास नारियल पानी पिएं।


आपको यह कितनी बार करना चाहिए


  • आपको हर दस्त के बाद इस काढ़े का सेवन करना चाहिए।


सावधानी: निर्जलीकरण के लक्षणों के उपचार के लिए इस उपाय का उपयोग नहीं किया जाना चाहिए। इसका उपयोग हैजा या गुर्दे की हानि के लिए भी नहीं किया जाना चाहिए।


5. पेपरमिंट एसेंशियल ऑयल


पेपरमिंट ऑयल का सक्रिय संघटक मेन्थॉल है। मेन्थॉल दस्त और अन्य IBS लक्षणों के साथ होने वाले पेट दर्द को दूर करने में मदद कर सकता है। डाइजेस्टिव डिजीज एंड साइंसेज और मायमेनसिंह मेडिकल जर्नल में प्रकाशित दो अध्ययनों ने भी पुष्टि की कि छोटी आंत में पेपरमिंट ऑयल की निरंतर रिहाई एक ही पोस्ट है।


आपको चाहिये होगा


  • खाद्य ग्रेड पेपरमिंट ऑयल की 1 बूंद
  • 1 गिलास गर्म पानी

तुम्हे जो करना है


  • एक गिलास गर्म पानी में फूड-ग्रेड पेपरमिंट ऑयल की एक बूंद डालें।
  • घोल पिएं।

आपको यह कितनी बार करना चाहिए


इस मिश्रण को आप दिन में 1-2 बार पी सकते हैं।


6. अदरक

जर्नल ऑफ द फार्मास्युटिकल सोसाइटी ऑफ जापान के याकुगाकु जशी में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, अदरक का एसीटोन अर्क सेरोटोनिन से प्रेरित दस्त को रोकने में मदद कर सकता है।


आपको चाहिये होगा


  • 1-2 इंच कटा हुआ अदरक
  • 1 कप पानी

तुम्हे जो करना है


  • एक कप पानी में एक या दो इंच कटा हुआ अदरक मिलाएं।
  • एक सॉस पैन में मिश्रण को उबाल लें।
  • उबाल लें और तनाव दें।
  • अदरक की गर्म चाय पिएं।

आपको यह कितनी बार करना चाहिए


इस मिश्रण को आप दिन में 2-3 बार पी सकते हैं।


7. हरी चाय

ग्रीन टी के कई लाभों में से एक प्रभावित व्यक्तियों में दस्त का इलाज करने की इसकी क्षमता है (11)।


आपको चाहिये होगा


  • 1 चम्मच ग्रीन टी
  • 1 कप गरम पानी

तुम्हे जो करना है


  • एक कप गर्म पानी में एक चम्मच ग्रीन टी को 5-7 मिनट के लिए भिगो दें।
  • छान कर चाय पी लें।


आपको यह कितनी बार करना चाहिए


आप दिन में 1-2 बार ग्रीन टी पी सकते हैं।


8. इलेक्ट्रोलाइट पेय (ओआरएस)

इलेक्ट्रोलाइट पेय, जैसे स्पोर्ट्स ड्रिंक, साथ ही हमेशा लोकप्रिय मौखिक पुनर्जलीकरण समाधान (ओआरएस), निर्जलीकरण के लक्षणों को कम करने में मदद कर सकते हैं जो अक्सर दस्त के साथ होते हैं (12)।


आपको चाहिये होगा


  • 6 चम्मच चीनी
  • 1 चम्मच नमक
  • 1 लीटर उबला पानी


तुम्हे जो करना है


  • एक लीटर पानी में छह चम्मच चीनी मिलाएं। घुलने तक अच्छी तरह मिलाएं।
  • घोल में एक चम्मच नमक डालें और अच्छी तरह मिलाएँ।
  • एक कप घोल पिएं।
  • आपको यह कितनी बार करना चाहिए


आप इसे हर पानी से भरे मल त्याग के बाद कर सकते हैं।


9. विटामिन ए

विटामिन ए की कमी अक्सर दस्त के बढ़ते जोखिम से जुड़ी होती है। इसलिए, इस कमी को बहाल करने से लक्षणों की गंभीरता को कम किया जा सकता है (13)।


आपको चाहिये होगा


  • विटामिन ए युक्त खाद्य पदार्थ या पूरक


तुम्हे जो करना है


  • गाजर, शकरकंद, खुबानी, विंटर स्क्वैश, केंटालूप और पालक जैसे विटामिन ए से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन बढ़ाएं।
  • आपके लिए आवश्यक खुराक के बारे में अपने डॉक्टर से बात करने के बाद आप इस विटामिन के लिए अतिरिक्त पूरक भी ले सकते हैं।

आपको यह कितनी बार करना चाहिए


आप अपने दैनिक आहार में कम मात्रा में विटामिन ए युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल कर सकते हैं।


10. चावल का पानी

चावल का पानी आपके स्वास्थ्य पर कोई प्रतिकूल प्रभाव डाले बिना मल की संख्या को कम कर सकता है। यह विकासशील देशों (14) में शिशु आंत्रशोथ के परिणामस्वरूप होने वाले शिशुओं में दस्त के इलाज के लिए विशेष रूप से बहुत अच्छा है।


  • आपको चाहिये होगा
  • ½ गिलास चावल का पानी


तुम्हे जो करना है


  • पके हुए चावल का पानी छान लें।
  • दस्त होने पर आधा गिलास चावल का पानी पिएं।
  • यह उपाय बच्चों के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

आपको यह कितनी बार करना चाहिए


इसे आप रोजाना 2-3 बार या इससे ज्यादा बार कर सकते हैं।


जबकि ये उपाय अपना जादू चलाते हैं, आप शीघ्र स्वस्थ होने के लिए अपने आहार में कुछ बदलाव भी कर सकते हैं।

Post a Comment

0 Comments